नक्सली धमकी के बाद भी,प्रधानमंत्री को सुनने देखने 35 से 40 हजार की संख्या में पहुंचे ग्रामीण